Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

U19 क्रिकेट वर्ल्ड कप 2022 : चक दे इंडिया… वर्ल्ड कप चैंपियन बनी टीम इंडिया…इंग्लैंड को फाइनल में 4 विकेट से हराया

0 299

अंडर-19 वर्ल्ड कप जीतने के बाद जानिए भारतीय कप्तान यश धुल ने क्या कहा

दिल्ली (ए)। दिल्ली के यश धुल भारत को अंडर-19 वर्ल्ड कप जिताने वाले पांचवें भारतीय कप्तान बन गए हैं। धुल की कप्तानी में भारत की युवा टीम ने शनिवार रात एंटीगा के सर विविययन रिचर्ड्स क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए फाइनल में इंग्लैंड को 4 विकेट से धूल चटाकर पांचवीं बार अंडर-19 वर्ल्ड कप का खिताब जीता। भारत ने इससे पहले, 2000 में मोहम्मद कैफ की कप्तानी में, 2008 में विराट कोहली की कप्तानी में, 2012 में उन्मुक्त चंद की कप्तानी में और 2018 में पृथ्वी शॉ की कप्तानी में अंडर-19 वर्ल्ड कप जीता था। इन 5 भारतीय कप्तानों में से 3 कप्तान दिल्ली के हैं, जिसमें धुल के अलावा विराट कोहली और उन्मुक्त चंद शामिल हैं। खिताबी पंच लगाने के बाद कप्तान यश धुल ने कहा कि उन्हें अपने खिलाड़ियों पर बहुत भरोसा है। उन्होंने साथ ही कहा कि वे लकी थे कि उनके साथ कई शानदार कोच जुड़े हुए थे। 

यश धुल की टीम जब अंडर-19 वर्ल्ड कप ट्रॉफी उठा रही थी तो उसके पीछे ‘चक दे इंडिया..; गाना चल रहा था। धुल ने मैच के बाद कहा, ‘मेरे लिए यह एक गर्व का पल है। इंडिया के लिए इस ट्रॉफी को जीतना खास रहा है। हम सभी खिलाड़ी और कोच ने हमारे कैंप में बढ़िया माहौल बना कर रखा था। हम ठंडे दिमाग से आज खेल रहे थे और हमें हमारे खिलाड़ियों पर हमें बहुत भरोसा है। इंग्लैंड ने आज के मैच में बढ़िया वापसी की लेकिन निशांत सिंधू और रशीद ने काफी बढ़िया बल्लेबाजी की। हम लकी थे कि हमारे पास इतने महान कोच थे, जिसमें ऋषिकेश कानितकर,साईराज बहुतुले और वीवीएस लक्ष्मण जैसे खिलाड़ी शामिल थे।’

इंग्लैंड के कप्तान ने क्या कहा

इंग्लैंड के कप्तान टॉम प्रेस्ट फाइनल में मिली हार के बाद ​काफी निराश दिखाई दिए। उन्होंने हालांकि टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने के अपने फैसले का बचाव किया। प्रेस्ट ने कहा, ‘हमने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। हालांकि हमें बढ़िया शुरुआत नहीं मिली। जेम्स रू ने आज एक बढ़िया पारी खेली लेकिन दुर्भाग्य से वह शतक नहीं बना पाए। हमारे पास एक शानदार बोलिंग अटैक है और हमें लगा कि हम इस स्कोर को डिफेंड करने में कामयाब हो सकते हैं। यह टूर्नामेंट काफी बढ़िया रहा है। हमने अपने उम्र के सबसे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों का सामना किया है, जिससे हमें काफी कुछ सीखने को मिला है।’

खिताबी पंच लगाने के बाद खिलाड़ियों पर अब इनाम बरसने लगे हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने खिलाड़ियों के अलावा सपोर्ट स्टाफ के लिए भी ईनामों की घोषणा की है।

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने भारत की वर्ल्ड कप जीत के बाद ट्वीट किया, ‘अंडर-19 वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन करके खिताब जीतने वाले अंडर-19 टीम के सदस्यों को बीसीसीआई 40-40 लाख रुपए का नकद पुरस्कार और सपोर्ट स्टाफ को 25-25 लाख रुपए देगा। आपने हमें गौरवान्वित किया है।’ पूर्व कलात्मक बल्लेबाज और एनसीए प्रमुख वीवीएस लक्ष्मण भी टीम के साथ वेस्टइंडीज में थे। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भी खिलाड़ियों को पुरस्कार दिए जाने के बारे में लिखा, ‘अंडर-19 टीम के खिलाड़ी, सपोर्ट स्टाफ और सेलेक्टर्स को इतने शानदार तरीके से वर्ल्ड कप जीतने के लिए बधाई। हमारे द्वारा 40 लाख रुपए के पुरस्कार की घोषणा प्रशंसा का एक छोटा सा प्रतीक है, लेकिन उनके प्रयास इससे परे हैं. शानदार खेल।’

गौरतलब है की भारत और इंग्लैंड के बीच आईसीसी अंडर 19 विश्व कप 2022 का फाइनल मैच भारतीय समयानुसार कल दोपहर से देर रात तक एंटीगा के नोर्थ साउंड के सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में खेला गया। भारत ने इंग्लैंड को इस मैच में 4 विकेट से हराकर अंडर 19 विश्व कप का खिताब अपने नाम कर लिया। ये भारत का पांचवां U19 वर्ल्ड कप टाइटल है। भारत ने 189 रन पर इंग्लैंड को समेट दिया था और फिर 4 विकेट शेष रहते 190 रन का लक्ष्य 47.5 ओवर में हासिल कर लिया था। 

भारत के खिलाफ इंग्लैंड की टीम के कप्तान टॉम प्रेस्ट ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। इंग्लिश कैप्टन का ये फैसला सही साबित नहीं हुआ, क्योंकि इंग्लैंड की आधी टीम 13 ओवर में पवेलियन लौट गई। हालांकि, टीम ने बीच के कुछ ओवरों में सधी बल्लेबाजी की। बावजूद इसके टीम 44.5 ओवर में 189 रन बनाकर ढेर हो गई। भारत को मैच और खिताब जीतने के लिए 190 रन बनाने थे।

भारत के लिए निशांत सिंधु और शेक रशीद ने अर्धशतक जड़े और इसी के दम पर भारत की टीम ने 190 रन का लक्ष्य 47.5 ओवर में 6 विकेट खोकर हासिल कर लिया और मैच 4 विकेट से जीत लिया। इंग्लैंड के लिए जोशुआ बायडन, जेम्स सेल्स और थॉमस एसपिनवॉल ने 2-2 विकेट चटकाकर मैच में जान डाली, लेकिन भारतीय बल्लेबाजों ने धैर्य के साथ काम लिया और मुकाबला खत्म करने के साथ ही दम लिया। 

Leave A Reply

Your email address will not be published.