Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

भिलाई महिला महाविद्यालय में न्यू एजुकेशन पॉलिसी 2020 पर हुआ हेमचंद यादव विश्वविद्यालय की वीसी डॉ अरुणा पल्टा का विशेषज्ञ व्याख्यान

0 73

भिलाई। भिलाई महिला महाविद्यालय में आईक्यूएसी एव डीएसटी क्यूरी प्रोजेक्ट के संयुक्त तत्वावधान में “न्यू एजुकेशन पॉलिसी 2020” विषय पर एक-दिवसीय दिवसीय फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत कार्यशाला का आयोजन किया गया। “न्यू एजुकेशन पॉलिसी 2020” पर आयोजित इस कार्यक्रम में विशेषज्ञ व्याख्यान हेमचंद यादव विश्वविद्यालय की कुलपति तथा कार्यक्रम की मुख्य अतिथि डॉ अरुणा पल्टा द्वारा दिया गया।

कुलपति डॉ अरुणा पल्टा ने अपने व्याख्यान में एनईपी 2020 के विभिन्न बिंदुओं पर प्रकाश डाला तथा बताया कि विद्यार्थी किस प्रकार अपने विषय का चयन कर सकते है एवं प्रथम वर्ष मे प्रवेश के समय कोर सब्जेक्ट्स के साथ इलेक्टिव/जेनेरिक सब्जेक्ट्स, वैल्यू एडेड कोर्स, स्किल डेवलपमेंट कोर्स आदि के विभिन्न विकल्पों में से अपनी इच्छा अनुसार सब्जेक्ट का चयन कर सकते हैं। इस संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए उन्होंने असेस्मेंट सिस्टम पर चर्चा करते हुए उन्होंने क्रेडिट स्कोर एवं सीजीपीए किस प्रकार से निर्धारित किये जायेंगे इसकी भी सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की। डॉ पल्टा ने अपने विशेषज्ञ व्याख्यान में बताया कि स्टूडेंट्स को सेमेस्टर सिस्टम के साथ ही कोर्स के भार एवं दबाव से किस तरह मुक्त कर शिक्षा दी जा सकेगी, किस तरह एनसीसी, एनएसएस एवं स्पोर्ट्स को भी विषय के रूप में सम्मिलित किया जायेगा और स्टूडेंट्स को उनके मन-मुताबिक शिक्षा की स्वतंत्रता मिल सकेगी। उन्होंने इनके समस्त पहलूओं पर विस्तारपूर्वक चर्चा की। इस दौरान महाविद्यालय के प्राध्यापकों द्वारा पूछे गए विभिन्न प्रश्नों के उत्तर भी डॉ अरुणा पल्टा द्वारा देते हुए उनकी जिज्ञासाओं का समाधान किया गया। इस संबंध में चर्चा की दौरान उन्होंने प्राध्यापकों को बताया कि आपके विषय का ज्ञान ही पूर्वानुसार आपकी मदद करेगा।

इस अवसर पर वीसी डाॅ. अरुणा पल्टा द्वारा महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. संध्या मदन मोहन के आगामी जुलाई माह में होने जा रही सेवानिवृति हेतु अपनी अग्रिम शुभकामनाओं के साथ स्नेह भेंट और जीवन की द्वितीय पारी की भी सफलता की कामना की।

इससे पूर्व कार्यक्रम के प्रारम्भ में मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर एव अतिथियों को पौधे प्रदान कर स्वागत किया गया। इस अवसर पर अपने स्वागत भाषण में भिलाई महिला महाविद्यालय की प्राचार्या एवं डीएसटी क्यूरी की प्रिंसिपल इनवेस्टिगेटर डाॅ संध्या मदन मोहन ने एनईपी 2020 की देश में आवश्यकता एवं विद्यार्थियों को इससे होने वाले लाभ पर प्रकाश डाला। उन्होंने एनईपी के इस वर्ष से लागू होने पर आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए महाविद्यालय की शिक्षिकाओं को प्रत्साहित किया। डॉ संध्या मदन मोहन ने आयोजित कार्यशाला के उद्देश्य के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि स्टूडेंट्स को प्रवेश के समय एनईपी संबंधी पूर्ण जानकारी देकर उन्हें किसी भी तरह के भय अथवा भ्रम की स्थिति से बचाने हेतु इस कार्यशाला का आयोजन किया गया है। उन्होंने विशेषज्ञ व्याख्यान हेतु कार्यशाला में उपस्थित मुख्य अतिथि डॉ अरुणा पल्टा महविद्यालय की तरफ से विशेष रूप से आभार व्यक्त किया। इसके पश्चात क्यूरी प्रोजेक्ट की सब-नोडल अधिकारी डॉ भावना पांडेय ने कुलपति डॉ अरुणा पल्टा की उपलब्धियों के विषय में सभागार में उपस्थितजनों को अवगत कराया।

कार्यक्रम मे मुख्य रूप से आईक्यूएसी प्रभारी डॉ सुनीता जी राव, एनईपी नोडल ऑफिसर प्रतिभा छाया क्लॉडियस, डीएसटी क्यूरी नोडल आफिसर डॉ रूपम अजीत यादव, क्यूरी प्रोजेक्ट मेम्बर्स डॉ प्रतीक्षा पांडेय, डॉ अमरप्रीत भाटिया, डॉ रंजना साहू, महाविद्यालय के सभी विभागों के विभागध्यक्ष एवं प्राध्यपिकाएँ उपस्थित रहीं। कार्यक्रम संचालन डॉ रंजना साहू एवं धन्यवाद ज्ञापन प्रतिभा छाया क्लॉडिस द्वारा किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.