Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

भिलाई महिला महाविद्यालय के शिक्षा विभाग में बीएड छात्राओं के लिए योग प्रशिक्षण सर्टिफिकेट कोर्स का शुभारंभ

0 85

भिलाई। भिलाई महिला महाविद्यालय के शिक्षा विभाग में एक माह के योग प्रशिक्षण सर्टिफिकेट कोर्स का शुभारंभ किया गया। बीएड प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित करते हुए प्राचार्या डॉ संध्या मदन मोहन ने बताया कि शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक विकास के लिये योग अत्यंत आवश्यक है, इसलिए योग को अपने जीवन में शामिल करके स्वास्थ्यवर्धक जीवन का भरपूर आनंद लें। महाविद्यालय के शिक्षा विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ मोहना सुशांत पंडित ने कहा कि योग प्रशिक्षण प्राप्त कर इसके माध्यम से हम अपने जीवन को स्वस्थ्य रख सकते हैं वहीं इस प्रशिक्षण को प्राप्त कर प्रोफेशनल योग-ट्रेनर के रूप में अपनी स्वयं की योग की कक्षायें भी संचालित कर सकते हैं ताकि उत्तम स्वास्थ्य के साथ-साथ आपका आने वाला भविष्य भी सुरक्षित हो सके। उद्घाटन अवसर पर छत्तीसगढ़ योग एसोसिएशन के अध्यक्ष शैलेंद्र वीशी द्वारा योग प्रशिक्षण पाठ्यक्रम की जानकारी दी गई। पाठ्यक्रम के अन्तर्गत सैद्धांतिक 60 नंबर तथा प्रायोगिक 140 नंबर इस प्रकार कुल =200 नंबर पूर्णांक होंगे। उन्होंने जानकारी दी कि उपरोक्त एक माह का योग प्रशिक्षण सर्टिफिकेट पूरी दुनिया में मान्य है। शैलेन्द्र विशी ने अपने सम्बोधन में योग पाठ्यक्रम संबंधी विस्तृत जानकारी उपस्थित बीएड छात्राओं को प्रदान की।

गौरतलब है की कोर्स के शुभारंभ के पूर्व एक ओरीएन्टेशन कार्यक्रम आयोजित किया गया था जिसमें भिलाई महिला महाविद्यालय के शिक्षा विभाग में योग प्रशिक्षण सर्टिफिकेट कोर्स के शुभारंभ किये जाने संबंधी जानकारी बीएड प्रशिक्षार्थियों को प्रदान की गयी थी। ओरीएन्टेशन कार्यक्रम में बीएड के प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित करते हुए प्राचार्या डॉ.संध्या मदन मोहन ने बताया कि योग एक अभ्यास है जो हमें स्वस्थ रखता हैं। हमारे शरीर तथा मन को नियंत्रित करने में योग महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है और स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का वास होता है। महाविद्यालय के बीएड विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ मोहना सुशांत पंडित ने बताया कि योग एक बहुत ही अच्छा अभ्यास है यह हमारी स्वस्थ जीवन-शैली तथा बेहतर जीवन जीने में हमारी काफी सहायता करता है। अतिथि के रूप में आए छत्तीसगढ़ योग एसोसिएशन के पदाधिकारी जयंत भारती द्वारा बीएड छात्राओं को योग -प्रशिक्षण पाठ्यक्रम की जानकारी दी गई। कार्यक्रम का संचालन तथा आभार प्रदर्शन क्रमशः सहा. प्राध्यापिकाओं आशा आर्य तथा काकोली सिंघा ने किया ।

आयोजित कार्यक्रमों को सफल बनाने में शिक्षा विभाग की सहा. प्राध्यापिकाओं डॉ हेमलता सिदार, नाजनीन बेग, आशा आर्य, काकोली सिंघा, सत्यम मिश्रा एवं श्वेता पूरी का उल्लेखनीय सहयोग रहा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.