Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

वर्ल्ड अल्ज़ाइमर्स डे पर भिलाई महिला महाविद्यालय के होम साइंस विभाग ने किया ऑनलाइन क्विज़ का आयोजन

0 470

बीएससी तथा एमएससी होम साइंस के साथ-साथ अन्य कोर्सेस के स्टूडेंट्स ने बड़े उत्साह के साथ की भागीदारी

भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा सेक्टर 9 में संचालित भिलाई महिला महाविद्यालय के होम साइंस डिपार्टमेंट द्वारा अल्ज़ाइमर्स संबंधी जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से वर्ल्ड अल्ज़ाइमर्स डे पर ऑनलाइन क्विज़ का आयोजन किया गया। इसके परिणाम आज घोषित कर दिए गए। 10 छात्राओं ने संयुक्त रूप से प्रथम, 6 छात्राओं ने द्वितीय तथा 16 छात्राओं ने संयुक्त रूप से तृतीय स्थान प्राप्त किया।

कार्यक्रम के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए भिलाई महिला महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ संध्या मदन मोहन ने बताया की अल्ज़ाइमर्स रोग के प्रति लोगों में जागरूकता का स्तर मात्र 7.16 प्रतिशत ही है। अल्ज़ाइमर्स एक लगातार बढ़ने वाला रोग होता है जिससे याददाश्त और अन्य महत्वपूर्ण दिमागी काम करने की क्षमता नष्ट हो जाती है। याददाश्त का कम होना और भ्रम इसके प्रमुख लक्षण हैं। उन्होंने कहा की आहार एक प्राकृतिक साधन है जिससे मानव के शरीर में कोई बायो-केमिकल चेंज नहीं होता है और रिसर्च में यह साबित हुआ है की पौष्टिक आहार से न सिर्फ शरीर को स्वस्थ रखने में बल्कि दीर्घायु होने में भी सहायता मिलती है इसलिए अपने खान-पान की आदतों में उचित परिवर्तन कर अपनी ब्रेन हेल्थ में सुधार कर इस बीमारी से लड़ा या बचा जा सकता है। इसी उद्देश्य के साथ महाविद्यालय ने वर्ल्ड अल्ज़ाइमर्स डे पर जागरूकता हेतु ऑनलाइन क्विज़ का आयोजन किया।

गौरतलब है की दुनिया भर में प्रति वर्ष 21 सितंबर को वर्ल्ड अल्ज़ाइमर्स डे मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का मकसद लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरूक करना है। अल्ज़ाइमर नर्वस सिस्टम से जुड़ी एक ऐसी बीमारी है जो याददाश्त पर बुरा असर डालती है। अल्ज़ाइमर्स से निपटने विशेषज्ञों द्वारा सोशल ऐक्टिविटी बढ़ाने और लाइफ स्टाइल को बेहतर बनाने पर जोर दिया जाता है। इसमें फिज़िकल ऐक्टिविटी, अच्छी डाइट और अच्छी नींद शामिल है।

ऑनलाइन क्विज़ की जागरूकता प्रश्नोत्तरी तैयार करने में होम साइंस डिपार्टमेंट की सहायक प्राध्यापिका डॉ रूपम अजीत यादव ने प्रमुख भूमिका निभायी तथा डॉ तोषिना तेलंग का सहयोग रहा। कार्यक्रम में आयोजन समिति के सदस्यों विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ सुनीता जी राव, श्रीमती ज्योतिबाला चौबे, डॉ स्वर्णलता वर्मा, डॉ राजश्री चंद्राकार, डॉ सरिता जोशी आदि की उपस्थिति रही।

Leave A Reply

Your email address will not be published.