Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

भिलाई महिला महाविद्यालय में अंतर्महाविद्यालयीन मिलेट्स प्रतियोगिता का आयोजन

0 196

परंपरागत अनाजों से बने व्यंजनों चीला, रागी की खीर, पराठे, इडली, रागी का केक, रागी की बर्फी, हलवा आदि से महका कॅम्पस

भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा संचालित भिलाई महिला महाविद्यालय में अंतर्महाविद्यालयीन मिलेट्स प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था जिसमें छात्राओं ने बहुत ही उत्साह पूर्वक मिलेट्स के विभिन्न प्रकार के नमकीन और मीठे व्यंजन बनाए और उन्हे आकर्षक तरीके से प्रस्तुत किया। गौरतलब है कि यह वर्ष 2023 “इंटरनेशनल मिलेट्स ईयर” के रूप में मनाया जा रहा है इसी संदर्भ में यह प्रतियोगिता आयोजित की गई। इसका उद्देश्य हमारे परंपरागत मोटे अनाजों के प्रति जन-साधारण में जागरूकता लाना और उनके उपयोग को लोकप्रिय करना था।

इस प्रतियोगिता में प्रतिभागी छात्राओं ने ज्वार, बाजरा, रागी, कोदो, कुटकी, सामा चावल जैसे हमारे परंपरागत अनाजों से चीला, रागी की खीर, पराठे, इडली, रागी का केक, रागी की बर्फी, मुठिया, अप्पे, ज्वार-बाजरा की पूरी, लड्डू, ज्वार-बाजरा के ब्रेड पकोड़े, रागी का बड़ा, कोदो की लस्सी, रागी के मोदक, रागी की चॉकलेट, हलवा, कटलेट और भी कई आधुनिक एवं परंपरागत व्यंजन प्रस्तुत किये गए।

इस आयोजन की समन्वयक होम साइंस विभाग की सहा. प्राध्यापिका ज्योति बाला चौबे के द्वारा सभी विशेषज्ञ निर्णायकों का आयोजन मे औपचारिक स्वागत किया गया। प्रतियोगिता के निर्णायक महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. संध्या मदन मोहन, वाणिज्य विभागाअध्यक्ष डॉ भारती वर्मा एवं सहा. प्राध्यापिका डॉ. निधि मोनिका शर्मा थे। निर्णायकों ने अपने निर्णय देकर इस प्रतियोगिता के सम्बन्ध में अपने विचार व्यक्त करते हुए बताया कि सभी डिशेज़ आकर्षक तो थी हीं, पोषक होने के साथ-साथ स्वादिष्ट भी थीं और प्रतिभागियों ने उन्हें आकर्षक तरीके से प्रस्तुत भी किया, जिसमें डिस्प्ले हेतु सहायक सामग्री के अंतर्गत प्रतिभागियों के द्वारा परसा पान पत्ता,केले कि पत्तियाँ, आम की पत्तियाँ और मिट्टी के बर्तन, सुंदर फूल आदि सामग्रियों का उपयोग किया गया था। सभी डिशेज़ के डिस्प्ले के दौरान स्वच्छता का विशेष रूप से ध्यान रखा गया।


निर्णायकों के द्वारा सभी प्रतिभागियों में से प्रथम्,द्वितीय एवं तृतीय स्थान के साथ साथ साँत्वना पुरस्कार भी घोषित किये गये। इसके पश्चात इस कार्यक्रम की समन्वयक ज्योति बाला चौबे के द्वारा सभी निर्णायकों के प्रति आभार व्यक्त किया गया।

महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ संध्या मदन मोहन ने आयोजन में उपस्थित समस्त प्रतिभागियों को प्रोत्साहन तथा मार्गदर्शन देते हुए कहा कि जीतना या हारना महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि जितने भी प्रतिभागियों ने अपनी सहभागिता इस प्रतियोगिता में दी है वे सभी हमारे लिए विजेता हैं। इसलिये प्रतियोगिता के समस्त प्रतिभागियों को सहभागिता प्रमाणपत्र प्रदान किये जाएंगे।

उक्त्त प्रतियोगिता गृहविज्ञान विभाग के द्वारा एवं आईक्यूएसी सेल के अंतर्गत आयोजित की गयी थी। इस आयोजन में विभाग की प्रभारी विभागाध्यक्ष डॉ. श्रीमती सुनीता जी राव सहित अन्य विभागो के विभागाध्यक्ष एवं महाविद्यालय की सहा. प्राध्यापिकाएं उपस्थित थीं। प्रतियोगिता के आयोजन में गृह विज्ञान विभाग से डॉ स्वर्णलता वर्मा, डॉ रूपम ए यादव, डॉ राजश्री चंद्राकर एवं डॉ सरिता जोशी देवयानी, प्रांजली सहित बीएससी, एमएससी, बीए एवं बीएड की छात्राओं का उल्लेखनीय सहयोग रहा। प्रतियोगिता के अंत में आईक्यूएसी सेल की प्रभारी एवं गृहविज्ञान विभाग की अध्यक्षा डॉ श्रीमती सुनीता जी राव के द्वारा सभी उपस्थित फैकल्टी मेम्बर्स एवं अन्य महाविद्यालयों से आये प्रतिभागियों को धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.