Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

भरी गर्मी में देसी जुगाड़ से कैसे निकाली बारात…हर कोई कर रहा ताज्जुब…देखें VIDEO

0 352

सूरत। गर्मी ने इन दिनों लोगों के पसीने छुड़ा रखे हैं।बहुत से इलाकों का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज हो रहा है। मगर, शादी-ब्‍याह के आयोजनों तपती दोपहरी भी आड़े नहीं आ रही। लोग गर्मी से राहत पाने के लिए हर तौर-तरीके आजमा रहे हैं। अब एक शादी का वीडियो ही देख लीजिए…लोगों ने कैसे तेज धूप में भी बारात निकाली। यह दृश्य देखकर कोई भी ताज्जुब करेगा। दूल्‍हे समेत उसके सगे-संबंधी पीले रंग की ‘चलती छत’ के नीचे नजर आ रहे हैं, जिससे उन्हें धूप नहीं लग रही। और, नाच-गान के साथ बारात निकल रही है।

यहां आप देख सकते हैं कि, सड़क के किनारे बारात आगे बढ़ रही है और बारात में शामिल लोग पीले रंग के पंडाल के अंदर नाच रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि पंडाल भी मूव‍िंग है। कुछ लोग उसे दूल्‍हे और बारात के ऊपर से आगे बढ़ा रहे हैं। यानी, जैसे-जैसे पंडाल आगे बढ़ रहा है, नीचे मौजूद बाराती भी नाचते-गाते आगे की तरफ जा रहे हैं। जिस इलाके से होकर ये बारात निकली, देखने वाले लोग ताज्‍जुब करने लगे।

‘पीले रंग की चलती छत’ वीडियो में, बारातियों को ढोल की थाप पर नाचते हुए देखा जा सकता है, जबकि दूल्हे को घोड़े पर बैठाया गया है। एक तरह से चलती छत के नीचे रहकर बाराती तपती गर्मी से बचे हैं मजे की बात यह है कि, नाच-गा भी रहे हैं। इस वीडियो को इंडियन एयरफोर्स के रिटायर्ड एयरमार्शल एव‍िएटर अनिल चौपड़ा ने अपने टि्वटर अकाउंट पर शेयर किया है। जिसे अब तक 3 लाख से ज्‍यादा बार देखा जा चुका है।

‘यह इनोवेशन लोगों को भा गया’ पीले रंग के पंडाल के बारात निकलते समय सड़क पर से अन्‍य वाहन भी निकल रहे हैं। इस दौरान कई वाहन चालक इस बारात को देखते हैं, देखना भी बनता है क्‍योंकि ऐसे बारात निकलते हुए शायद पहली बार देखा गया है। रिटायर्ड एयर मार्शल अनिल चोपड़ा ने इस वीडियो के बारे में लिखा, ‘सन शेड और सुरक्षित घेरे में चलने वाली बारात। यह इनोवेशन लोगों को भा गया।’

गौरतलब है कि पिछले दिनों मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में बारात के साथ कूलर ले जाते हुए देखा गया था। अब इस वीडियो में देखा जा सकता है कि, भरी गर्मी में कैसे बारात निकल रही है। सोशल मीडिया पर एक यूजर ने इस तरीके की तारीफ करते हुए लिखा- वाह क्‍या बात है…ज्यादा से ज्यादा बाराती छाया के भीतर, और गर्मी में डांस भी, जिससे यातायात भी प्रभाव‍ित नहीं हो रहा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.