Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

भिलाई महिला महाविद्यालय की बीएड प्रशिक्षु छात्राओं ने आजादी के महापर्व के अवसर पर समर्पण के तहत् बस्तियों में जाकर आवश्यक सामग्रियों का किया वितरण

0 194

महाविद्यालय की बीएड छात्राओं द्वारा समय-समय पर “समर्पण” के बैनर तले बस्तियों में जाकर निरंतर किए जा रहे सामाजिक कार्य

भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा संचालित भिलाई महिला महाविद्यालय के शिक्षा विभाग की बीएड प्रशिक्षु छात्राओं द्वारा स्वतंत्रता दिवस एक अलग तरीके से मनाया। महाविद्यालय की बीएड प्रशिक्षु छात्राओं ने इस अवसर पर बस्तियों में जाकर छोटे-छोटे बच्चों व महिलाओं को उनकी जरूरत की सामग्री का वितरण किया तथा स्वाधीनता दिवस की खुशियां बांटी।

भिलाई महिला महाविद्यालय की प्रिन्सिपल डॉ संध्या मदन मोहन ने बीएड छात्राओं के इस प्रयास को अनुकरणीय बताते हुए कहा कि समाज सेवा से बढ़कर कोई कार्य नहीं है। भावी शिक्षकों को समाज सेवा से जोड़कर इनके माध्यम से ही हमारी आने वाली पीढ़ी में मूल्यों और संस्कारों का बीजारोपण संभव है। उन्होंने महाविद्यालय की बीएड प्रशिक्षु छात्राओं का उत्साहवर्धन करते हुए किए जा रहे कार्य की सराहना की और इसे प्रेरणास्पद बताया। गौरतलब है कि शिक्षा विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ मोहना सुशांत पंडित के मार्गदर्शन में महाविद्यालय की बीएड प्रशिक्षु छात्राओं द्वारा “समर्पण” के अंतर्गत समाज सेवा के क्षेत्र में यह आयोजन विगत दस वर्षों से निरंतर किया जा रहा है।

इस सामाजिक कार्य के अंतर्गत महाविद्यालय की बीएड तृतीय सेमेस्टर की छात्राओं द्वारा भिलाई-दुर्ग के विभिन्न इलाकों जैसे सुपेला, खुर्सीपार, रुआबाँधा, पावरहाउस, मरोदा, हुडको सेक्टर-8 बस्ती, कैम्प-1, आदर्शनगर-भिलाई, शिवाजी नगर, कातुलबोड, प्रियदर्शिनी परिसर, सिंधियानगर, रायपुर नाका, तितुरडीह, केलाबाड़ी, सेक्टर-6 बस्ती

तथा भिलाई-दुर्ग से लगे ग्रामीण इलाकों जांजगिरी, महुआरी मरोदा, पिपरडीह चिखली, गुरूर बालोद, झलमला बालोद, गोंडपेंडरी, पाटन आदि क्षेत्रों में जाकर जरूरतमंद बच्चों के बीच पेन-पेंसिल, ड्रॉइंग बुक, कॉपी-पुस्तक, कलर पेंसिल, कलर पेन, चॉकलेट-बिस्किट आदि बांटी गयी वहीं बस्ती की महिलाओं को भी आवश्यक सामग्री का वितरण किया गया।

शिक्षा विभाग की सहा. प्राध्यापिकाओं हेमलता सिदार, भावना, नाजनीन बेग, आशा आर्या, काकोली सिंघा आदि ने भी बीएड प्रशिक्षु छात्राओं द्वारा किए गए समाज सेवा के कार्य की प्रशंसा की।

सभी बीएड प्रशिक्षु छात्राओं ने इस कार्य में उत्साहपूर्वक भागीदारी तथा इसे आत्म-संतुष्टि का पल बताया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.