Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

भिलाई महिला महाविद्यालय में मशरूम से संबंधित विषय पर हुआ अतिथि व्याख्यान

0 210

महाविद्यालय में चल रहे तीस-दिवसीय मशरूम कल्टीवेशन, स्पान प्रोडक्शन एवं पोस्ट हार्वेस्ट मैनेजमेंट के वैल्यू एडेड कोर्स के दौरान हुआ यह आयोजन

भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा हॉस्पीटल सेक्टर में संचालित भिलाई महिला महाविद्यालय के बायोटेक्नॉलजी तथा माइक्रोबायोलॉजी विभाग तथा माइक्रोबायोलॉजिस्ट सोसाइटी इंडिया के संयुक्त तत्वावधान से महाविद्यालय में चल रहे तीस-दिवसीय मशरूम कल्टीवेशन, स्पान प्रोडक्शन एवं पोस्ट हार्वेस्ट मैनेजमेंट के वैल्यू एडेड कोर्स में भिलाई महिला महाविद्यालय और शास. दिग्विजय ऑटोनोमस महाविद्यालय, राजनान्दगाँव के साथ हुए एमओयू के अंतर्गत सहा. प्राध्यापक वनस्पति शास्त्र डॉ त्रिलोक देव तथा सहा. प्राध्यापिका वनस्पति शास्त्र डॉ सोनल मिश्रा का व्याख्यान हुआ।

डॉ त्रिलोक देव ने अपने व्याख्यान में खाने योग्य मशरूम एवं जहरीले मशरूम पर पीपीटी प्रेज़ेन्टेशन के माध्यम से बहुत ही रोचक जानकारी दी। डॉ सोनल मिश्रा ने ओयस्टर मशरूम के उत्पादन के विभिन्न पद, विधियों, सावधानियों एवं इनके पोषक मूल्यों पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में जन-सेवक समिति के अध्यक्ष दिनेश सिंह भी उपस्थित थे जो की इस तीस-दिवसीय कार्यशाला में प्रशिक्षण प्रदान कर रहे हैं।

इससे पूर्व कार्यक्रम के प्रारंभ में विभागाध्यक्ष डॉ भावना पांडे ने अतिथियों का परिचय दिया तथा आयोजित 30-दिवसीय वर्कशॉप की चल रही गतिविधियों को बताया। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित छात्राओं को स्वरोजगार हेतु प्रेरित किया। भिलाई महिला महाविद्यालय की प्रिन्सिपल डॉ संध्या मदन मोहन ने अतिथियों का स्वागत करते हुए अपने उद्बोधन में उपस्थित छात्राओं को स्वयं में ऐसे स्किल्स डेवेलप करने कहा की वे यहाँ से सीखकर स्वयं का रोजगार भी कर सकें। उन्होंने व्याख्यान के विषय के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि एडिबल और नॉन-एडिबल मशरूम को पहचानना अत्यंत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि गलत चयन टॉक्सिसिटी डेवेलप कर सकता है। उन्होंने छात्राओं से मशरूम प्रोडक्शन के साथ-साथ पोस्ट हार्वेस्ट मैनेजमेंट तथा सर्वाधिक महत्वपूर्ण मार्केटिंग स्किल्स को डेवेलप करने पर जोर दिया।

कार्यक्रम का संचालन सहा. प्राध्यापिका साधना गुप्ता ने तथा धन्यवाद ज्ञापन एमएससी की छात्रा नंदिता पांडे ने किया। कार्यक्रम में विभाग के फैकल्टी मेम्बर्स सहित अन्य विभागों के हेड भी उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.