Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

भिलाई महिला महाविद्यालय में एनएसएस दिवस मनाया गया

0 263

कार्यक्रम के दौरान आयोजित विविध कार्यक्रमों में क्विज़ प्रतियोगिता तथा “स्वामी विवेकानंद के जीवन दर्शन का युवाओं पर प्रभाव” विषय पर वक्ताओं ने किये विचार व्यक्त

भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा सेक्टर 9 में संचालित भिलाई महिला महाविद्यालय में महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) इकाई द्वारा राष्ट्रीय सेवा योजना स्थापना दिवस का आयोजन महाविद्यालय के सभागार में किया गया। कार्यक्रम में भिलाई महिला महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ संध्या मदन मोहन तथा प्रबंधन की ओर से एडमिनिस्ट्रेटर आरके शर्मा विशेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रतीक पुरुष स्वामी विवेकानंद के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलन तथा स्वयं सेविकाओं द्वारा प्रस्तुत लक्ष्य गीत के साथ हुआ।

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ संध्या मदन मोहन ने राष्ट्रीय सेवा योजना की स्थापना और कार्यशैली के विषय में प्रकाश डाला तथा बताया कि एनएसएस एक ऐसा मंच है जिसमें विद्यार्थियों के व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास होता है, उनमें आत्मविश्वास जागृत होता है, विपरीत परिस्थितियों से निपटने का आत्मबल उत्पन्न होता है। विद्यार्थियों में इन सभी गुणों का बोध व विकास राष्ट्रीय सेवा योजना के माध्यम से ही किया जाता है। उन्होंने एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी रहते हुए अपने स्वयं के अनुभवों और उस दौरान किए गए कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में युवा विद्यार्थियों को आगे लाने में रासेयो की अपनी एक विशेष भूमिका है। महाविद्यालय के एडमिनिस्ट्रेटर आरके शर्मा ने अपने उदबोधन में कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक “स्वयं से पहले आप” के सिद्धांत पर कार्य करता है। पीड़ित मानवता की सेवा ही इसका उद्देश्य है। उन्होंने कोविड महामारी के दौरान स्वयंसेविकाओं द्वारा किए गए कार्यों की सराहना की और राष्ट्रीय सेवा योजना के समस्त स्वयंसेवकों को एनएसएस दिवस की शुभकामनाएँ दीं। महाविद्यालय की एनएसएस की कार्यक्रम अधिकारी डॉ राजश्री शर्मा ने राष्ट्रीय सेवा योजना के स्थापना दिवस पर सभी को बधाई देते हुए महाविद्यालय इकाई के द्वारा किए गए कार्यों का उल्लेख किया और छात्राओं में नेतृत्व क्षमता विकसित करने हेतु राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) को एक उचित माध्यम बताया।


इस अवसर पर आयोजित विविध कार्यक्रम के अंतर्गत राष्ट्रीय सेवा योजना विषय पर क्विज प्रतियोगिता आयोजित की गई। इसके अलावा “स्वामी विवेकानंद जी के जीवन दर्शन का युवाओं पर प्रभाव” विषय पर विचार अभिव्यक्ति का आयोजन किया गया जिसमें रासेयो स्वयं सेविकाओं प्रगति मोहबे, दीक्षा,मयूरी तरोने, पायल व नोमिषा ठाकुर ने अपने विचार रखे। इसके पश्चात स्वयं सेविकाओं को “बी” व “सी” सर्टिफिकेट प्रदान किए गए। इस अवसर पर डॉ भारती वर्मा विभागाध्यक्ष-कॉमर्स विभाग की उपस्थित रही। कार्यक्रम का संचालन कार्यक्रम अधिकारी डॉ अनुपमा श्रीवास्तव विभागाध्यक्ष-जूलॉजी विभाग ने किया। धन्यवाद ज्ञापन राष्ट्रीय सेवा योजना की वरिष्ठ स्वयंसेविका अंजू प्रधान ने किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.