Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

भिलाई महिला महाविद्यालय की बीएड कोर्स की छात्राओं ने अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर बुजुर्गों का किया सम्मान

0 298

भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा सेक्टर 9 में संचालित भिलाई महिला महाविद्यालय के शिक्षा विभाग की बीएड कोर्स की छात्राओं ने बीएड विभाग के सोशल ग्रुप “समर्पण” के अंतर्गत “अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस” के अवसर पर वृद्धाश्रम सहित विभिन्न आश्रय स्थलों और स्थानों पर जाकर बुजुर्गों को फल, मिठाई, दैनिक उपयोग की सामग्री, पौधे, पुस्तकें वितरित की तथा साथ ही शॉल और श्रीफल देकर सम्मानित किया। इसके अलावा अपने घर के बुजुर्गों का भी सम्मान कर उनका आशीर्वाद लिया।

भिलाई महिला महाविद्यालय की प्रिन्सिपल डॉ संध्या मदन मोहन ने बीएड प्रशिक्षुओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा की वृद्ध समाज एवं परिवार की धरोहर है, इनको संभालकर रखना हमारी जिम्मेदारी है। बुजुर्गों की सेवा ही हमारा परम धर्म होना चाहिए तथा हमें सदैव हमारे बुजुर्गों का आशीर्वाद प्राप्त होते रहे, यही हमारी कामना होनी चाहिए। उन्होंने बताया की इस आयोजन का उद्देश्य भावी शिक्षकों में समाज के प्रति नैतिक जिम्मेदारी विकसित करना था।

भिलाई महिला महाविद्यालय के शिक्षा विभाग की हेड डॉ मोहना सुशांत पंडित ने कहा की हमें अपने बुजुर्गो का सदैव सम्मान करना चाहिए। उनके जीवन का अनुभव ही हमारी धरोहर है, जिसका लाभ हमें समय-समय पर लेते रहना चाहिए। हम चाहे जीतने भी बड़े हो जायें, बुजुर्गों के आशीर्वाद के बिना जीवन अपूर्ण है। हमें सदैव उनके मार्गदर्शन पर चलकर उन्नति की राह तलाशनी चाहिए। डॉ मोहना सुशांत पंडित ने बताया की “समर्पण” के अंतर्गत बीएड छात्राओं द्वारा करीब एक दशक से निरंतर सामाजिक सरोकार के क्षेत्र में कार्य किए जाते रहे हैं इसके अंतर्गत वृद्धाश्रम व चिल्ड्रन होम विज़िट, समाज के अक्षम वर्ग के विद्यार्थियों को ज्ञान दान तथा दिव्यांग शालाओं में विभिन्न अवसरों पर विज़िट कर सेवा कार्य किया जाना शामिल है।

“समर्पण” की इस सोशल ऐक्टिविटी में शामिल हुई भिलाई महिला महाविद्यालय की बीएड थर्ड सेमेस्टर की छात्राओं आयुषी विज, सिमरन, गुलफ्शा, नेहा, लोकिता, कविता, फरहा, नमिता, गिरिजा आदि ने इस अवसर पर प्राप्त अनुभव को शेयर करते हुए इसे अद्भुत बताया उन्होंने बताया की बुजुर्गों के साथ बैठ समय व्यतीत कर उनके जीवन के अनुभवों और विचारों से अत्यंत प्रेरणा मिली और इस सेवा कार्य से आत्मिक शांति का अनुभव हुआ। बीएड कोर्स की छात्राओं सीमा, लक्ष्मी, विभारानी, यामिनी, वर्षा, अंजू, खुशबू, अरुणा, देवश्री, अदिति, पिंकी, सीमा, अंजू आदि ने विभिन्न स्थानों पर बुजुर्गों के लिए सेवा कार्य कर आयोजन को सफल बनाया।

आज के कार्यक्रम के आयोजन में महाविद्यालय के शिक्षा विभाग की सहायक प्राध्यापिकाओं श्रीमती हेमलता सिदार, भावना, नाजनीन बेग, आशा आर्या, प्रीति बिझेकर, काकोली सिंघा आदि का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.