Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

भिलाई महिला महाविद्यालय की गृह विज्ञान एवं कला संकाय की नव-प्रवेशी छात्राओं का इंडक्शन कार्यक्रम संपन्न

0 134

महाविद्यालय के समस्त विभागों, लैब्स, इन्फ्रास्ट्रक्चर तथा अन्य सुविधाओं की दी गयी जानकारी… महाविद्यालय में प्रदान की जा रही विभिन्न स्कॉलरशिप से भी छात्राओं को कराया गया अवगत

भिलाई। भिलाई महिला महाविद्यालय में गृहविज्ञान विभाग एवं कला संकाय की प्रथम वर्ष की कक्षाओं की नव-प्रवेशी छात्राओं के शिक्षा आरंभ इन्डक्शन प्रोग्राम का आयोजन प्राचार्या के मार्गदर्शन में आईक्यूएसी के संयोजन में किया गया।

भिलाई महिला महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. संध्या मदन मोहन ने नव-प्रवेशी प्रथम वर्ष की गृह विज्ञान संकाय एवं कला संकाय की समस्त छात्राओं का महाविद्यालय में हार्दिक स्वागत किया। उन्होंने छात्राओं को उद्बोधित करते हुए, इस कार्यक्रम के उद्देश्यों से परिचित कराया। इसके पश्चात उनके द्वारा नव प्रवेशी छात्राओं को पाठ्यक्रम के विभिन्न विषयों की, फैकल्टी प्राध्यापिकाओं से परिचित कराया गया। उन्होंने कहा कि इंडक्शन कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य छात्राओं को महाविद्यालय के वातावरण से अवगत कराना है ताकि नव-प्रवेशी छात्राओं को अध्ययन संबंधी, ग्रंथालय संबंधी , खेलकूद एवं क्रीड़ा गतिविधियों संबंधी कठिनाइयों का सामना ना करना पड़े और वे महाविद्यालय की समस्त आवश्यक सुविधाओं का लाभ उठा सकें। इन्डक्शन कार्यक्रम के दौरान छात्राओं को कॉलेज के समस्त विभागों, प्रयोगशालाओं, इन्फ्रास्ट्रक्चर तथा अन्य सुविधाओं से संबंधित आकर्षक विडियो चलाकर परिचित कराया गया।

इंडक्शन कार्यक्रम में प्राचार्या ने महाविद्यालय में संचालित स्नातक एवं स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की उन्होंने यह भी बताया कि इस महाविद्यालय में बीएड एवं पीजीडीसीए के कोर्सेस भी संचालित हैं जिससे छात्राएं अपनी स्नातक एवं स्नातकोत्तर डिग्री समाप्त करने के पश्चात न सिर्फ इन कोर्सेस का बल्कि इसी महाविद्यालय से पीएचडी की उच्च डिग्री भी ग्रहण कर सकती हैं।

उन्होंने इंडक्शन प्रोग्राम में नव-प्रवेशी छात्राओं को महाविद्यालय की आचरण संहिता से परिचित कराया गया जिसमें सादगी पूर्ण वेशभूषा, प्राध्यापिकाओं के प्रति छात्राओं के सम्मान पूर्ण व्यवहार के संबंध में दिशा निर्देश दिए गए। छात्राओं को निर्देशित किया गया कि उन्हें क्लास रूम के वातावरण में, पुस्तकालय में और संपूर्ण महाविद्यालय परिसर में स्वच्छता रखनी चाहिए। महाविद्यालय के फर्नीचर को, पुस्तकालय की पुस्तकों को एवं प्रयोगशाला के उपकरणों को व्यवस्थित तरीके से उपयोग में लाना चाहिए क्योंकि ये सभी सुविधाएं छात्राओं के ज्ञानवर्धन एवं संबंधित सुविधाओं से जुड़ी हुई हैं।

प्राचार्या द्वारा विशेष रूप से निर्धन छात्राओं के लिए एक कोष स्थापित करने की बात भी कही गई, उन्होंने बताया कि जो छात्राएं निम्न आर्थिक आय वर्ग की हैं और जो अनुसूचित जाति, जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग की हैं उनके लिए महाविद्यालय के द्वारा राज्य स्तरीय पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप की सुविधा उपलब्ध है। जो छात्राएं निर्दिष्ट आय सीमा के अंतर्गत आती हैं वे इस छात्रवृत्ति का लाभ उठा सकती हैं। इसके अलावा छात्राओं के कल्याण के लिए उपलब्ध माइनॉरिटी स्कॉलरशिप, जिंदल स्कॉलरशिप, सिस्टर कंसेशन, इनके अतिरिक्त शिक्षक अभिभावक संघ, एनएसएस तथा स्पोर्ट्स छात्रवृत्ति सुविधाओं की जानकारी भी छात्राओं को प्रदान की। उन्होंने नव प्रवेशी के साथ-साथ समस्त उपस्थित छात्राओं को बिजली की बचत एवं पानी की बर्बादी रोकने के लिए भी अपील की।

इससे पूर्व कार्यक्रम के प्रारंभ में गृह विज्ञान विभाग की प्रभारी विभागाध्यक्ष डॉ. सुनीता जी राव एवं अन्य समस्त सहा. प्राध्यापिकाओं, कला संकाय की समस्त सहायक प्राध्यापिकाओं व हिंदी एवं अंग्रेजी विषयों की विभागाध्यक्षों तथा सहा. प्राध्यापिकाओं का भी पुष्प देकर परिचय कराया गया और छात्राओं को इन सभी सहा. प्राध्यापिकाओं के अध्यापन विषयों की जानकारी भी प्राचार्या द्वारा प्रदान की गयी ताकि समस्त छात्राएं इनकी विषय विशेषज्ञता का लाभ ले सकें।

इंडक्शन कार्यक्रम के अंत में अंत में प्राचार्या द्वारा नव-प्रवेशी छात्राओं को अपनी हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह इंडक्शन कार्यक्रम ये सुनिश्चित करने का एक अवसर है कि छात्राएं अपनी महाविद्यालय के प्रति भूमिका निष्ठापूर्वक निभाएंगी तथा महाविद्यालय द्वारा प्रदत्त समस्त सुविधाओं का लाभ उठाएंगी एवं शैक्षिणक के साथ-साथ सांस्कृतिक एवं क्रीड़ा संबंधी विभिन्न गतिविधियों में अपनी सहभागिता रखते हुए महाविद्यालय की प्रावीण्य सूची में अपना स्थान सुरक्षित करेंगी।

आभार प्रदर्शन डॉ राजश्री चंद्राकर के द्वारा किया गया। कार्यक्रम में गृह विज्ञान विभाग की सहा. प्राध्यापिकाएं श्रीमती ज्योति बाला चौबे, डॉ. स्वर्णलता वर्मा, डॉ रूपम अजीत यादव, हिंदी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ श्रीमती निशा शुक्ला , अंग्रेजी विभाग की विभागाध्यक्ष निधि तिवारी, कला संकाय की प्रभारी सहा. प्राध्यापिका डॉ. सरिता जोशी, देवयानी, प्रांजली, श्राइन, एवं अन्य सहा. प्राध्यापिकाएं उपस्थित थीं। कार्यक्रम का सफल संचालन गृहविज्ञान विभाग की सहा. प्राध्यापिका डॉ रूपम अजीत यादव ने किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.