Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

पीजी कॉलेज ऑफ नर्सिंग में स्तनपान सप्ताह के अवसर पर कार्यक्रम का हुआ आयोजन

0 144

भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा भिलाई के हॉस्पीटल सेक्टर में संचालित पीजी कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग ने विश्व स्तनपान सप्ताह के अवसर पर एक-दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया।

आयोजन के मुख्य अतिथि डॉ. सुबोध साहा (अतिरिक्त सीएमओ और नियोनेटोलॉजी प्रमुख) जेएलएनएचआरसी अस्पताल सेक्टर-9, भिलाई ने उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए प्रसव के तुरंत बाद स्तनपान कराने और 6 महीने तक बच्चे को सिर्फ स्तनपान ही कराने पर जोर दिया। उन्होंने स्तनपान को बढ़ावा देने में नवजात और प्रसूति वार्ड में नर्सों की भूमिका की भी प्रशंसा की।

आयोजन की विशेष अतिथि डॉ. माला चौधरी (सलाहकार, नियोनेटोलॉजी विभाग) जेएलएनएचआरसी अस्पताल सेक्टर-9, भिलाई ने बेबी फ्रेंडली अस्पताल पहल विषय पर अपने विचार व्यक्त किये और प्रसव के तुरंत बाद मां और बच्चे के बीच त्वचा से त्वचा के संपर्क और प्रसव के आधे घंटे के भीतर स्तनपान शुरू करने पर भी जोर दिया। उन्होंने जेएलएचएनआरसी, भिलाई के बीएफएचआई प्रमाणन की सफलता की कहानी भी सुनाई।

इससे पूर्व कार्यक्रम का आरंभ प्रो. डॉ. (श्रीमती) श्रीलता पिल्लई, उप-प्राचार्या, पी.जी. कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग भिलाई के स्वागत भाषण से हुआ।

डॉ. सुबोध साहा, डॉ. माला चौधरी और डॉ. डेजी अब्राहम ने ‘स्तनपान को सक्षम करना’ विषय पर लगाए गए पोस्टरों का अवलोकन किया, जिसमें शाइना थॉमस ने पहला, मोनिका पड्डा ने दूसरा और अनीशु आर अनिल और पुनीता उसेंडी ने तीसरा पुरस्कार प्राप्त किया।

कार्यशाला के दौरान बाल स्वास्थ्य विभाग के संकायों द्वारा स्तनपान से संबंधित विभिन्न विषयों पर चर्चा की गई। डॉ डेज़ी अब्राहम ने एनाटॉमी और फिजियोलॉजी ऑफ ब्रेस्ट फीडिंग पर क्लास ली। शिशु, मां और समाज को स्तनपान के लाभ पर नेहा सिंह ने विस्तारपूर्वक बताया। डॉ अनु एस थॉमस ने स्तनपान की चुनौतियों से संबंधित महत्वपूर्ण विचारों को प्रस्तुत किया। श्रीमती भगवती साहू, श्रीमती केसरलता साहू और श्रीमती रेशमा पटेल ने बीएससी नर्सिंग तृतीय वर्ष की छात्रा को स्तनपान की समस्याओं पर स्किट के लिए मार्गदर्शन किया।

बीएससी नर्सिंग छात्राओं को सिमुलेशन से परिचित करने हेतु एमएससी नर्सिंग छात्राओं द्वारा स्तनपान से सम्बंधित टॉपिक्स पर एक परिदृश्य बनाया गया । एक नई ऑनलाइन तकनीक “मेनटिमीटर” का उपयोग क्विज के लिए किया गया था।

प्रो. डॉ. अभिलेखा बिस्वाल, प्राचार्या – पीजी कॉलेज ऑफ नर्सिंग, भिलाई के मार्गदर्शन में आयोजित इस कार्यशाला के सफल आयोजन पर भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट के प्रबंधन ने बधाई दी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.