Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

आईपीएल-2021 फाइनल : चेन्नई सुपर किंग्स के खिताब जीतने पर जानिए सुनील गावस्कर ने क्यों कहा कि मेरी किस्मत धोनी जैसी नहीं….चौथी बार आईपीएल खिताब जीतने के बाद एमएस धोनी ने क्या कहा..देखें वीडियो

0 203

नई दिल्ली (एजेंसी)। पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने अपनी कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) को चौथी बार चैंपियन बनाने पर महेंद्र सिंह धोनी की जमकर तारीफ की है। सीएसके ने धोनी की कप्तानी में शुक्रवार रात दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए आईपीएल 2021 के फाइनल में कोलकाता नाइट राइडर्स को 27 रनों से हराकर अपना चौथा खिताब जीता। सीएसके ने इससे पहले साल 2010, 2011, 2018 में आईपीएल ट्रॉफी जीती थी। गावस्कर ने सीएसके कप्तान की तारीफ करते हुए कहा कि धोनी इसलिए ​महान है क्योंकि वह अपने खिलाड़ियों पर विश्वास दिखाते हैं। 

गावस्कर ने ब्रॉडकॉस्टर स्पोटर्स पर कहा, ‘ वह बहुत प्रभावशाली है क्योंकि उन्होंने खिलाड़ियों पर विश्वास दिखाया है। आप खिलाड़ियों की क्षमता जानते हैं और आप यह भी जानते हैं कि क्रिकेट के इस खेल में ऐसे दिन भी आएंगे जब कोई खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं करेगा। वह एक शानदार फील्डर हो सकता है, लेकिन कैच और मिसफील्ड छोड़ सकता है। एक बल्लेबाज के तौर पर आप फुलटॉस पर भी आउट हो सकते हैं। और साथ ही, गेंदबाजों के लिए वे कभी-कभार खराब गेंद फेंक सकते हैं जो छक्कों के लिए जाती है। लेकिन अगर आप एक कप्तान के रूप में एक खिलाड़ी की क्षमता को जानते हैं, तो आप उन्हें उस बुरे दिन या खराब ओवर की अनुमति देते हैं और इसी वजह से धोनी इतने अच्छे हैं।’ 

धोनी के लिए आईपीएल का 14वां सीजन सही नहीं रहा और उन्होंने 16 मैचों में केवल 114 रन ही बनाए। गावस्कर ने कहा, ‘ मैं इतना भाग्यशाली नहीं था कि मेरी भी किस्मत धोनी जैसी होती। लेकिन मैं सिर्फ उनमें वह शांति देखता हूं जो वह दबाव वाली परिस्थितियों में लाते हैं। वह कैप्टन कूल के अलावा कुछ नहीं हैं। उनमें कभी कोई डर नहीं है। 19वें ओवर में भी पहली बार, जब शार्दुल ठाकुर ने वाइड फेंकी, पहली बार मैंने उन्हें थोड़ा बिगड़ते देखा क्योंकि यह इसमें थोड़ी देरी हो रही थी।’

इससे पहले चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कल शुक्रवार को फाइनल जीतने के बाद कहा कि पिछले साल प्लेऑफ में जगह बनाने से चूकने के बाद उनके लिए अच्छी वापसी करना महत्वपूर्ण था और उन्हें खुशी है कि उनकी टीम इसमें सफल रही और चैंपियन बनी। चेन्नई ने फाइनल में कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) को 27 रन से हराकर चौथी बार इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का खिताब जीता। चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किए जाने पर फाफ डु प्लेसी के 86 और टॉप ऑर्डर के अन्य बल्लेबाजों के उपयोगी योगदान से तीन विकेट पर 192 रन बनाए। इसके जवाब में केकेआर को शुभमन गिल (51) और वेंकटेश अय्यर (50) ने पहले विकेट के लिए 91 रन जोड़कर अच्छी शुरुआत दिलाई, लेकिन उसकी टीम आखिर में नौ विकेट पर 165 रन ही बना पाई।

धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘चेन्नई पर बात करने से पहले मैं केकेआर पर बात करना चाहूंगा। अगर कोई टीम इस आईपीएल में खिताब की दावेदार थी तो वह केकेआर थी। उसने बेहतरीन वापसी की। मुझे लगता है कि ब्रेक से उन्हें फायदा मिला।’ उन्होंने कहा, ‘जहां तक चेन्नई की बात है तो आंकड़ों में हम लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीम हैं, लेकिन हम फाइनल में हारते रहे। विरोधी टीम को हावी नहीं होने देने वाले पहलू पर हम सुधार करना चाहते थे। हमने ऐसा किया। हमारे लिए अच्छी वापसी करना महत्वपूर्ण था।’

उन्होंने कहा, ‘मैं फैन्स को धन्यवाद देना पसंद करूंगा। जहां भी हम खेले हैं, यहां तक ​​कि जब हम दक्षिण अफ्रीका में थे, तब भी हमारे पास सीएसके फैन्स की अच्छी संख्या थी। आप उसी के लिए तरसते हैं। उन सभी की बदौलत ऐसा लगता है कि हम चेन्नई में खेल रहे हैं। उम्मीद है कि हम फैन्स के लिए चेन्नई वापस आएंगे। मैं पहले भी कह चुका हूं, यह बीसीसीआई पर निर्भर करता है कि मैं कितने दिनों तक खेलूंगा। दो नई टीमों के आने के साथ हमें तय करना है कि सीएसके के लिए क्या अच्छा है। यह मेरे टॉप तीन या चार में होने के बारे में नहीं है। यह सुनिश्चित करने के लिए एक मजबूत कोर टीम बनाने के बारे में है कि फ्रैंचाइजी को नुकसान न हो।’ 

Leave A Reply

Your email address will not be published.