Ultimate magazine theme for WordPress.

Breaking

भिलाई महिला महाविद्यालय में वार्षिकोत्सव, पुरस्कार वितरण एवं शिक्षादीप ट्रस्ट छात्रवृत्ति वितरण समारोह सम्पन्न

0 332

भिलाई। भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट द्वारा संचालित भिलाई महिला महाविद्यालय का वार्षिकोत्सव, पुरस्कार वितरण एवं शिक्षादीप ट्रस्ट छात्रवृत्ति वितरण समारोह महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ संध्या मदन मोहन के मार्गदर्शन एवं निर्देशन में राज्यसभा सांसद सुश्री डॉ सरोज पाण्डे के मुख्य आतिथ्य, दुर्ग लोकसभा सांसद विजय बघेल की अध्यक्षता तथा भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी तथा शिक्षादीप ट्रस्ट के ट्रस्टी विजय कुमार गुप्ता, भिलाई महिला महाविद्यालय के चेयरमेन अरविन्द जैन तथा भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट के सेक्रेटरी सुरेन्द्र गुप्ता की उपस्थिति में बड़े ही हर्षोल्लास एवं भव्यता के साथ आयोजित किया गया।

इस अवसर पर कॉलेज की छात्राओं तथा उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए कार्यक्रम की मुख्य अतिथि डॉ सरोज पांडे जो कि स्वयं इस कॉलेज की छात्रा रही हैं ने महाविद्यालय की सराहना करते हुए कहा कि यहाँ की शिक्षा की एक अलग ही पहचान है। उन्होंने कहा कि यह एक सुखद अनुभूति है और मेरे पास इसे व्यक्त करने हेतु शब्द नहीं है। आज अपने ही छात्र जीवन के महाविद्यालय के मंच पर मुख्य अतिथि के रूप में खड़ी हूँ। यहाँ मैं छात्रसंघ अध्यक्ष भी रही हूँ। मंच पर उपस्थित प्राचार्या डॉ संध्या मदन मोहन को इंगित करते हुए उन्होंने कहा कि तब वे हमारी छात्रसंघ प्रभारी प्राध्यापक रही हैं तथा उनके द्वारा मुझे छात्रसंघ अध्यक्ष रहने के दौरान जो मार्गदर्शन, तात्कालिन विभागाध्यक्ष रहते हुए शिक्षा व संस्कार दिए उन सबकी बदौलत ही मैं यहाँ तक पहुंची हूँ। उनके सहित हिन्दी की विभागाध्यक्ष डॉ निशा शुक्ला व अन्य गुरुजनों को भी मेरा सादर प्रणाम है।

अपने उद्बोधन में डॉ सरोज पांडे ने इस बात को रेखांकित करते हुए कहा कि महाविद्यालय की छात्रसंघ अध्यक्ष रहते हुए छात्राओं की समस्याओं को महाविद्यालय प्रबंधन के सामने उठाकर उनकी मांगों को प्रमुखता से रखने एवं उसका निराकरण करने का जो अनुभव मिला उसके कारण ही मुझे आत्मीय बल मिलता गया। अनुभव बढ़ता गया जो आज मेरे जीवन में काम आ रहा है और यही कारण है कि मुझे जो जिम्मेदारी मिली है उसे पूरी ईमानदारी से निभा पा रही हूँ। उन्होंने कहा कि इस महाविद्यालय की मेरी बहुत स्मृतियाँ हैं जिन्होंने मेरे जीवन पर अमिट छाप छोड़ी है। आज भी इस महाविद्यालय में आने पर वैसा ही महसूस होता है जैसा जब 20 साल पहले मैं यहाँ शिक्षारत् थी। सभी गुरुजन आज भी वैसे ही हैं, उनमें कोई बदलाव नहीं आया है। उन्होंने छात्राओं को संदेश देते हुए कहा कि अपने गुरुजनों के आशीर्वाद से मैं यहाँ हूँ और आप यह कभी मत भूलना कि ये गुरुजन ही हैं जो हमें बनाते हैं।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे दुर्ग लोकसभा सांसद विजय बघेल ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में अपने छात्र जीवन को याद करते हुए कहा कि जब हम स्कूल-कॉलेज में पढ़ते थे तो वार्षिकोत्सव में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया करते थे और छात्र जीवन से ही नेतृत्व क्षमता विकसित होती है। उन्होंने कहा कि इस महाविद्यालय से मेरा नजदीकी पारिवारिक रिश्ता रहा है और इससे मेरा आत्मीय लगाव है। इससे पहले भी मैं यहाँ कई छोटे-बड़े आयोजनों में आता रहा हूँ और आशा करता हूँ कि आप लोगों का प्यार, दुलार और स्नेह ऐसे ही मिलता रहेगा। सांसद बघेल ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार से विकास हेतु किसी भी सहयोग की आवश्यकता होगी तो आपका ये भाई आप लोगों के सहयोग के लिए सदैव खड़ा रहेगा। बहन सरोज का भी सहयोग आपको मिलता रहा है और भविष्य में भी मिलता रहेगा। अतिथि द्वय ने कहा कि वे इस महाविद्यालय को निरंतर प्रगति करते हुए देखना चाहते हैं और सहयोग हेतु हमेशा तत्पर रहेंगे।

भिलाई एजुकेशन ट्रस्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी विजय कुमार गुप्ता ने अपने उद्बोधन में बताया कि आज इस मंच से शिक्षादीप ट्रस्ट की तरफ से केवल राज्य ही नहीं अपितु बाहरी क्षेत्रों के ऐसे तकनीकी, मेडिकल, नर्सिंग और स्नातक स्तर के छात्र-छात्राओं को उनके पूरे 2-वर्षीय, 3-वर्षीय तथा 4-वर्षीय पाठ्यक्रमों की पूर्ण शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति प्रदान की जा रही है। यह छात्रवृति समाज के अक्षम वर्ग के उन मेधावी छात्र-छात्राओं को दी जा रही है जो की योग्य होने के बावजूद उन्हें अपने अध्ययन में निरन्तरता बनाए रखने कोई भी शासकीय छात्रवृति प्राप्त नहीं हो रही है। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ के भूतपूर्व महामहिम राज्यपाल जनरल केएम सेठ के मार्गदर्शन एवं अध्यक्षता में इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए शिक्षादीप ट्रस्ट गठित किया गया था जिसके वर्तमान में श्री विजय कुमार गुप्ता स्वयं अध्यक्ष हैं। इसी ट्रस्ट द्वारा इस आयोजन में योग्य मेधावी छात्र-छात्राओं के लिए कुल 2 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति राशि का वितरण उनके महाविद्यालयों के माध्यम से किया जा रहा है।

इससे पूर्व अपने स्वागत भाषण में भिलाई महिला महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ संध्या मदन मोहन ने कहा कि महाविद्यालय छात्राओं के सर्वांगीण विकास के केंद्र बिन्दु होते हैं। यहाँ उनकी शैक्षिक ही नहीं बल्कि शैक्षिकेत्तर क्षमताओं को प्रोत्साहित कर तराशा जाता है। वार्षिकोत्सव जहां छात्राओं की उपलब्धियों को सराहे जाने का उत्सव होता है वहीं शिक्षकों के लिए उनकी मेहनत को प्रत्यक्ष रूप से देखने के आनंद और गौरव का दिन होता है। महाविद्यालय का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए डॉ संध्या मदन मोहन ने बताया कि इस वर्ष भी महाविद्यालय की छात्राओं ने हेमचंद यादव विश्वविद्यालय की मेरिट सूची में 3 गोल्ड मेडल (प्रथम स्थान) सहित 34 स्थानों पर अपना कब्जा जमाकर महाविद्यालय की गरिमा, परंपरा और श्रेष्ठता को सिद्ध किया है। उन्होंने महाविद्यालय की पुरस्कार विजेता छात्राओं व उनके अभिभावकों तथा शिक्षादीप ट्रस्ट द्वारा प्रदान की जा रही छात्रवृति प्राप्त करने हेतु उपस्थित विभिन्न 23 महाविद्यालयों के प्रतिनिधियों का महाविद्यालय में विशेष रूप से स्वागत किया।

महाविद्यालय की ओर से उपस्थित अतिथियों को शॉल, श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया। आयोजन के दौरान भिलाई महिला महाविद्यालय की मेधावी छात्राओं को विभिन्न पुरस्कारों के माध्यम से पुरस्कृत किया गया।

कार्यक्रम के दौरान आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों की बेहद मनमोहक, रोचक व उत्कृष्ट प्रस्तुतियों ने दर्शकों को भाव-विभोर कर दिया।

कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन डॉ निशा शुक्ला, प्रभारी प्राध्यापक छात्रसंघ द्वारा किया गया। राष्ट्रगान के साथ ही कार्यक्रम का समापन हुआ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.